समय रहते गन्ना मूल्य नहीं बड़ाया गया तो होगा आंदोलन... चौधरी हरपाल सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष

Dec 12, 2023 - 11:12
 0  21
समय रहते गन्ना मूल्य नहीं बड़ाया गया तो होगा आंदोलन... चौधरी हरपाल सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष

https://youtu.be/IJY1TNsqMYI?si=geQmtCkU7eqOfQEv

सम्भल । जनपद संभल के बहजोई कलेक्ट्रेट कार्यालय के पीछे बड़े फिल्ड मैदान में भारतीय किसान यूनियन असली अराजनैतिक की महापंचायत आयोजित की गई,जिसमें सैकड़ों की संख्या में किसान पहुंचे जहां मंच से उद्बोधन करते राष्ट्रीय प्रवक्ता हरीश हूंण ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार यह चाहती हो की किसानों का दम खोटकर किसान को बर्बाद कर देगी तो यह उनका भ्रम है,यह झूटों की सरकार है, बादा कुछ और करती हैं,काम कुछ और करती है,वादा किया था किसानों की आय दोगुनी करने का लेकिन नहीं किया,और गन्ना भुगतान 15 दिन के अंदर करने का लेकिन एक एक साल में भी गन्ने का भुगतान नहीं मिल रहा है,और उत्तर प्रदेश के हालत तो यह हो रहे हैं। कि यहां ना तो भाव मिल रहा है और न ही भुगतान और कहा कि जब जब तुम किसान का शोषण करोगे तब किसान तुम्हारी छाती पर ही दाल दलेगा, और हम अधिकारियों से बात करते हैं, तो एक बात कह कर पल्ला झाड़ देते हैं, कि सरकार के अनुसार कार्य किया जाएगा,लेकिन यहां लोकतंत्र है संविधान है,जनहित के लिए कार्य करना पड़ेगा लोकतंत्र की मंशा में बात करनी पड़ेगी,जब दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर पर पूरे देश के किसानों के साथ 13महीने आंदोलन किया था,तो विज्ञान भवन में बात होती थी तो वहां नए-नए हथकंडे अपनाए जाते थे।लेकिन वहां पर भी हार नहीं मानी  हमारे साथियों ने वहां पर भी कई मंत्रियों को हराया था वहां पर कई संशोधन करने को तैयार थे,इसके साथ ही मंच से उद्बोधन करते दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष प्रबल प्रताप शाही ने कहा कि किसान विरोधी नीतियों वाले लोगों को संसद और विधानसभाओं का मुख नहीं देखना चाहिए यह दिखना पड़ेगा हरियाणा,उत्तर प्रदेश,मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के किसानों को आज मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़,राजस्थान में सरकार बनाने पर वहां के दलित आदिवासी पिछड़ों को खतरा है उनकी जमीन छीनने का अडानी अंबानी से जहां भाजपा की सरकार बनी है, इस लिए 2024 में इनको सीखना होगा और जो काम अपने पिछले लोकसभा में किया था वह अब दोहराना है,यह कहने की जरूरत नहीं है मुझे आपसे भरोसा है, में आपको याद दिलाना चाहता हूं,आपको 13महीने किसान आंदोलन भी पता है,पांच किसान लखीमपुर खीरी में शहीद हुए वह पता होंगे, 750किसान शहीद हुए थे बह भी पता होगा,आप बो लोग नहीं है, जो बातें किसानों की करते हैं, और बाद में भारतीय जनता पार्टी को अपना आबरू बेच देते हैं। आज यहां हम मौजूद इसलिए है, कि आपकी लड़ाई लड़ने वाले किसान नेता चौधरी हरपाल सिंह यहां मौजूद है,जो आपकी आवाज को लेकर लड़ते रहते हैं।इसके साथ ही राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष रंजीत सिंह राजू ने मंच से उद्बोधन करते हुए कहा कि 2024 में पंजाब और हरियाणा में यह लोग दोबारा से तैयारी कर रहे हैं, मैं आपको बताने आया हूं कि अपने ट्रैक्टरों में तेल भरके तैयार रखना की न जाने कब दिल्ली जाना पड़ जाए, सरकार टैक्टर से ऐसे डरती है, जैसे पूछो मत, एमएसपी कानून और सम्पूर्ण कर्ज माफी को लेकर दिल्ली जाना पड़ेगा,और लखीमपुर खीरी के दोषी भी दिल्ली संसद में बैठे हैं,जिसके लिए जाना पड़ेगा, उनको कैसे बाहर निकालना है यह हम बताएंगे, सब कहते हैं, कि सरकार मजबूत चाहिए, लेकिन किसान और मजदूर को सरकार मजबूर चाहिए, अब मजबूर सरकार कैसे बनेगी जो बड़ी -बड़ी पार्टियां दिल्ली से टिकट देकर भेजती हैं, उनको बोट करना बंद करदो अपने आप ही सरकार मजबूर बन जायेगी, राजस्थान में कई जगह ऐसी हैं जहां किसानी नहीं होती है, और जहां किसानी होती है,वहां इनकी सीटें नही निकली है,वहीं मंच से उद्बोधन करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी हरपाल सिंह ने कहा की उत्तर प्रदेश में गन्ना का उत्पादक सबसे पहले नंबर है,और यहां अभी तक गन्ना मूल्य नहीं बढ़ाया गया है,जबकि सबसे बड़ा उत्पादक गन्ने का उत्तर प्रदेश में होता है, 1 सितंबर से गन्ना मील चालू हो चुके हैं, और आज 11 दिसंबर हो गई है, लेकिन अभी तक बिना रेट के किसानों का गन्ना लिया जा रहा है। खाली पर्ची पर किसानों यह तक पता नहीं है कि उनके गन्ने का रेत मिलेगा क्या, इसके साथ ही डिप्टी कलेक्टर दीपक को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया, इस दौरान प्रदेश से लेकर जिले की सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद रहे

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow