*!!.झांसी लोकसभा क्षेत्र में किसका होगा राजतिलक: भाजपा से अनुराग शर्मा, कांग्रेस से प्रदीप जैन आदित्य एवं बसपा से रवि प्रकाश कुशवाहा के भाग्य का होगा फैसला, रोचक हुई चुनावी लड़ाई.!!*

May 4, 2024 - 10:26
 0  18
*!!.झांसी लोकसभा क्षेत्र में किसका होगा राजतिलक: भाजपा से अनुराग शर्मा, कांग्रेस से प्रदीप जैन आदित्य एवं बसपा से रवि प्रकाश कुशवाहा के भाग्य का होगा फैसला, रोचक हुई चुनावी लड़ाई.!!*
झांसी- "राजनीति" उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड की झांसी लोकसभा सीट पर भाजपा, कांग्रेस और बसपा के बीच जबरदस्त मुकाबला होगा। इस सीट पर भाजपा से मध्य प्रदेश शासन की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती भी जीत चुकी हैं। यहां से सांसद रहने के बाद ही उमा भारती ने राजनीति से सन्यास ले लिया था। अगर बात इस सीट के इतिहास की करें, तो यहां पहली बार साल 1952 में चुनाव हुए थे। पहला चुनाव में कांग्रेस के रघुनाथ विनायक धुलेकर ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद साल 1957, 1962, 1967 और 1971 तक लगातार कांग्रेस का इस सीट पर कब्जा रहा था। लेकिन कांग्रेस से इस सीट पर जीत की हैट्रिक लगाने वाली सुशीला नायर साल 1977 के चुनाव में पाला बदलकर जनता पार्टी से चुनाव लड़ी थी। इस चुनाव में सुशीला नायर ने कांग्रेस को यहां पराजित किया था। लेकिन साल 1980 में विश्वनाथ शर्मा और 1984 के चुनाव में सुजान सिंह बुंदेला की जीत से यहां कांग्रेस ने फिर से वापसी की थी। साल 1989 के चुनाव में इस सीट पर भाजपा ने पहली बार जीत दर्ज की थी और उसके बाद भाजपा का इस सीट पर लगातार चार चुनात तक कब्जा रहा। यहां भाजपा से लगातार साल 1989 के बाद 1991, 1996 और 1998 का चुनाव राजेंद्र अग्निहोत्री जीते। लंबे अंतराल के बाद फिर कांग्रेस ने साल 1999 में इस सीट पर वापसी की और सुजान सिंह बुंदेला सांसद बने। लेकिन साल 2004 में चंद्रपाल सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी को जीत दिलाकर यहां पर पहली बार पार्टी का खाता खोला था। मगर फिर साल 2009 में कांग्रेस ने इस सीट पर जीत हासिल की और प्रदीप जैन आदित्य सांसद चुने गए थे। हालांकि पिछले दो चुनाव से यहां पर भाजपा का कब्जा है। साल 2014 की मोदी लहर में इस सीट पर उमा भारती जीती थीं। उसके बाद साल 2019 के पिछले चुनाव में अनुराग शर्मा भाजपा से सांसद चुने गए थे। *लोकसभा सीट के तहत पांच विधानसभा* झांसी लोकसभा सीट के तहत पांच विधानसभा सीटें आती हैं। इनमें झांसी जिले की बबीना, झांसी और मऊरानीपुर सुरक्षित है, जबकि ललितपुर जिले की महरौनी सुरक्षित और ललितपुर शामिल है। *एक नजर 2019 लोकसभा चुनाव के नतीजों पर* झांसी सीट पर साल 2019 के पिछले लोकसभा चुनाव पर नज़र डालें, तो इस सीट पर भाजपा ने जीत दर्ज की थी। भाजपा के अनुराग शर्मा ने समाजवादी पार्टी के श्याम सुंदर सिंह यादव को साढ़े तीन लाख से अधिक वोटों के अंतर से हराया था। अनुराग शर्मा को कुल 8 लाख 9 हजार 272 वोट मिले थे, जबकि श्याम सुंदर सिंह यादव को 4 लाख 43 हजार 589 वोट मिले थे। वहीं तीसरे नंबर पर कांग्रेस के शिवशरण कुशवाह रहे थे। कुशवाह को केवल 86 हजार 139 वोट पड़े थे। *वर्ष 2024 लोकसभा चुनाव का रण* चुनावी जंग में झांसी सीट पर कांग्रेस ने अपने पूर्व सांसद प्रदीप जैन आदित्य पर फिर से भरोसा जताया है। जबकि सत्तारूढ़ भाजपा ने वर्तमान सांसद अनुराग शर्मा को ही फिर से अपना प्रत्याशी झांसी सीट से बनाया है। वहीं बसपा प्रत्याशी रवि प्रकाश कुशवाहा को उतरा है। ऐसे में यहां पर मुकाबला त्रिकोणीय होने की उम्मीद है। इस बार मजबूत चेहरों के मैदान में आने से झांसी सीट पर चुनावी लड़ाई में कुछ भी उलटफेर हो सकता है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow